Inspirational story of founder of

Inspirational story of founder of "APPLE".... Steve Jobs.. When Steve Jobs was fired from his own company..

, Writer

The only way to be truly satisfied is to do what you really think is a big job

स्टीव जॉब्स ने अपने पैरेंट्स के गैरज़ से "APPLE" शुरू किया था तब स्टीव जॉब्स की उम्र 20 साल थी स्टीव जॉब्स की मेहनत ने 10 सालों में ऐपल को दो लोगो से 2 बिलियन डॉलर और 4 हजार लोगों की कम्पनी बना दिया |

स्टीव जॉब्स ने अपनी फाइनए्‍सट क्रिएसन से "MACINTOSH" रिलीज किया | जब कम्पनी  ग्रो होने लगी तब स्टीव जॉब्स ने एक टैलेन्टेड पर्सन को हायर किया था कि वो साथ में कम्पनी को चलाने में सहायता केरेगा | एक साल तक सब कुछ ठीक चल रहा था फिर स्टीव जॉब्स और जिसे स्टीव जॉब्स ने कम्पनी को चलाने में सहायता के लिए हायर किया था दोनों के बीच कंपनी के विजन (vision) को लेके मतभेद हो गया |

बात बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स तक पहुंच गई और सब लोगो ने उस आदमी का साथ दिया और उसी सयम स्टीव जॉब्स को ऐपल से निकाल दिया गया तब स्टीव जॉब्स की उम्र 30 साल थी |

स्टीव जॉब्स को अगले कुछ महीनों तक समझ ही नहीं आया वह क्या करें |अब स्टीव जॉब्स की अडल्ट लाइफ का जो फ़ोकस था खत्म हो चुका था | कुछ समय बाद उन्हे महसूस हुआ ये सब कुछ इतनी आसानी से एक्सेप्ट करके उन्होंने अपने पहले की जनरेशन के एंटरपेन्योर को नीचा दिखाया है | स्टीव जॉब्स पब्लिक फेल्योर थे उस समय उन्होनें अपना शहर भी छोडना चाहा |

पर धीरे - धीरे उन्हें एहसास हुआ वह जो काम करते हैं उसके लिए वो अभी भी पैसोनेट (passionate) हैं | उन्हें "APPLE " से निकाल दिया गया पर वो अभी भी अपने कामों से प्यार करते हैं | उन्हे अब लगता था ऐप्पल से निकाल दिए जाने से अच्छा उनके साथ कुछ हो ही नहीं सकता | "successful" होने का बोझ अब "beginner" होने के हल्केपन में बदल गया था | इस समय वो खुद को बहुत फ्री महसुस कर रहे थे |

इस फ्रीडम की वजह से वो अपनी लाइफ के क्रिएटिव फेज में आ पाए | उन्होने ये सब होने के 5 साल बाद ही अपनी दो कम्पनी (1) "NeXt" (जिसके द्वारा बनायी गयी टेक्नोलॉजी ऐप्पल यूज़ करता है) और (2) "Pixar" (Pixar) ने दुनिया की पहली कंप्यूटर एनिमेटेड फिल्म.. "Toy story".. बनायी) |  उसी दौरान उनकी मुलाकात एक लेडी से हुए जो आगे चलकर उनकी पत्नी बनी |

ऐप्पल ने एक अप्रत्याशित कदम उठाते हुए NeXt को खरीद लिया | और स्टीव जॉब्स ऐप्पल में वापस चले गये | उस दौरान उन्हे ऐप्पल का CEO बना दिया गया और उन्होंने कम्पनी  की सक्सेस के लिए काम किया और कम्पनी को बड़ी सक्सेस मिली | आज "APPLE" दुनिया की बड़ी कम्पनियों में से एक है स्टीव जॉब्स का मानना था कि अगर उन्हे ऐप्पल से नहीं निकाला गया होता तो उनके साथ ये सब कुछ नहीं होता यह एक कड़वे दवा जैसा था पर पेसेंट के लिए जरूरी था |

स्टीव जॉब्स का कहना था कभी कभी जिंदगी आपको इसी तरह ठोकर मारती है | अपना विश्वास कभी मत खोयीये | स्टीव जॉब्स अपनी सक्सेस के लिए कहते हैं कि वो सिर्फ इस लिए आगे बढ़ते गये क्यूकि उन्हे अपने काम से प्यार था | 

In a speech session steve Jobs said that 

 

Sometimes life hits you in the head with a brick.

Don't lose your faith.

I'm convinced the only thing that kept me going was that i loved what i did..

You've got to find what you love ""!!!!! 


Comments / Answer

Leave a comment & ask question